Tuesday ,20-Nov-18 ,
- 860211211      - padamparag@gmail.com
ताज़ा खबर

बीमारियां भी दूर भगाता है कपूर

padamparag.in

जो लोग अक्सर धर्म-कर्म में लगे रहते हैं, उनके पास अनेक बीमारियां तो फटकती भी नहीं हैं, इसकी वजह हवन सामग्री भी हो सकती है। दरअसल हम आपको बतला दें कि पूजा में कपूर का खास प्रयोग तो होता ही है, हवन कुंड में अग्नि प्रज्जवलित करने के लिए सरसों के तेल का भी इस्तेमाल किया ही जाता है, लेकिन शास्त्रों के अनुसार कपूर का विशेष उपयोग माना गया है। ऐसे में क्या आप जानते हैं कि स्वास्थ्य की दृष्टि से कपूर बहुत ही लाभकारी होता है। यदि आप नहीं जानते तो आपको बतला दें कि धर्म-कर्म में विशेष रूप से उपयोग होने वाले कपूर का प्रयोग कई बीमारियों को ठीक करने में भी होता है। कपूर त्वचा एवं मांसपेशियों के लिए काफी फायदेमंद होता है। यदि आपके जोड़ों में दर्द रहता है, तब भी कपूर का इस्तेमाल किया जा सकता है, यह लाभकारी साबित होगा। कपूर का इस्तेमाल कई प्रकार के मरहम बनाने में भी होता है। यदि आप आयुर्वेदिक संदर्भ से जानें, तो कपूर का प्रयोग करके भिन्न-भिन्न मकसद के लिए मरहम तैयार किए जाते हैं। आज जबकि हम सभी प्रत्येक मर्ज का इलाज एलोपैथिक दवाओं में खोजते हैं तब भी आपको बताते चलें कि आप घर बैठे ही स्वयं भी कपूर के एक प्रयोग से कई बीमारियों को अलविदा कह सकते हैं। यदि आप बताए हुए नियमानुसार और निर्देशों का पालन करते हुए कपूर का प्रयोग करेंगे, तो यह वाकई चमत्कारी साबित होगा। हम यहां आपको कपूर के कुछ उपयोग बताते हैं, जिन्हें प्रयोग में लेकर आप कई फायदे पा सकते हैं। सर्व प्रथम, यदि किसी को नियमित रूप से पेट दर्द की परेशानी रहती है, तो इसका हल कपूर के एक प्रयोग में छिपा है। पेट दर्द होने पर कपूर, अजवाइन और पिपरमेंट यानी कि पुदीने को शर्बत में मिलाकर पीने से पेट का दर्द मिनटों में दूर किया जा सकता है। यदि किसी को दस्त लग रहे हैं तो कपूर बेहद उपयोगी सिद्ध हो सकता है। इसके लिए कपूर, अजवाइन और पिपरमेंट को पानी में डालकर धूप में रख दें। थोड़े-थोड़े समय में इस घोल को हिलाते रहें ताकि यह अपना आकार ले ले। इसके बाद इसकी कुछ बूंदों को चीनी के पानी में मिलाकर रोगी को दे दें। इसका सेवन करने के कुछ समय पश्चात ही रोगी को आराम मिल जाएगा। कपूर त्वचा के लिए भी फायदेमंद होता है। आपकी स्किन यानी कि त्वचा यदि किसी प्रकार के संक्रमण से घिर चुकी है तो संक्रमित स्थान पर कपूर को लगाएं, धीरे-धीरे संक्रमण दूर हो जाएगा। यही नहीं बल्कि कपूर के त्वचा पर नियमित उपयोग से निखार भी आता है। इनके अलावा भी यदि किसी को मांसपेशियां संबंधी परेशानी है या फिर जोड़ों में दर्द रहता है, तो कपूर के तेल से मालिश करें। रोग जाता रहेगा और रोगी जल्द ही स्वस्थ अनुभव करेगा।

Related Posts you may like