Sunday ,18-Nov-18 ,
- 860211211      - padamparag@gmail.com
ताज़ा खबर

न्यूनतम वेतन अधिनियम के अंतर्गत श्रमिको के मंहगाई भत्ते में वृद्धि

padamparag.in

इंदौर न्यूनतम वेतन अधिनियम 1948 कं अंतर्गत 67 अनुसूचित नियोजनों में कार्यरत श्रमिकों के मासिक एवं दैनिक वेतन की पुनरीक्षित दरें घोषित की गई है। जो अखिल भारतीय उपभोक्ता मूल्य सूचकांक पर आधारित कर संबंद्ध की गई है। श्रमायुक्त द्वारा घोषित महंगाई भत्ते की दरों के अनुसार एक अक्टूबर,2018 से आगामी 6 माहों के लिये 67 अनुसूचित नियोजनों में अकुशल श्रमिकों को 7 हजार 375 रूपये प्रतिमाह तथा 283 रूपये 65 पैसे प्रतिदिन, अर्द्धकुशल श्रमिकों को प्रतिमाह 8 हजार 232 रूपये या प्रतिदिन 316 रूपये 65 पैसे, कुशल श्रमिकों को प्रतिमाह 9 हजार 610 रूपये या प्रतिदिन 369 रूपये 65 पैसे तथा उच्च कुशल श्रमिकों को प्रतिमाह 10 हजार 910 रूपये या 419 रूपये 65 पैसे प्रतिदिन दिये जायेंगे। कृषि नियोजन मे गत छ: माही का औसत 896 रहा था जो इसके पूर्व छ: माही की औसत 891 से 5 बिन्दु कम है, इसलिए न्यूनतम वेतन अधिनियम 1948 की धारा 12(1-ए) के अनुपालन में न्यूनतम वेतन में कमी नहीं की गई है। इसके कारण गत छ: माही में मान्य किये गये अखिल भारतीय उपभोक्ता मूल्य सूचकांक के औसत के उपर (896-891) 05 औसत बिन्दुओं की कमी हुई है। कृषि नियोजन मे उपभोक्ता मूल्य सूचकांक मे प्रतिमाह 768 रूपये की वृद्धि श्रमायुक्त द्वारा घोषित की गई है, जिसके आधार पर अकुशल श्रमिकों को प्रतिमाह 6 हजार 118 रूपये या प्रतिदिन 204 रूपये की मजूदरी महंगाई भत्ते सहित जो कि 1 अप्रैल,2018 को देय की गई थी वही 1 अक्टूबर,2018 के लिये यथा स्थिति रखी गई है। बीड़ी नियोजन के संबंध में न्यूनतम वेतन के लिये 1 अप्रैल,2018 से आगामी एक वर्ष के लिये महंगाई भत्ते की दरें श्रमायुक्त द्वारा घोषित की गई है तद्नुसार बीड़ी रोलर को मजदूरी 85 रूपये 19 पैसे प्रति हजार तथा 11.19 रूपये महंगाई भत्ता कुल 85.19 रूपये प्रति हजार बीड़ी बनाने पर न्यूनतम वेतन दिया जायेगा। बीड़ी श्रमिकों को न्यूनतम वेतन के अलावा अवकाश के 4.26 रूपये तथा बोनस रूपये में 8.99 रूपये प्रति हजार बीड़ी बनाने पर भुगतान देय होगा भविष्य निधि कटौती 17.98 रूपये की होगी, भविष्य निधि के कटौती उपरान्त एक हजार बीड़ी बनाने पर शुद्ध राशि 87.91 रूपये देय होगी अगरबत्ती नियोजन में गत छ: माही का औसत 288 रहा था जो इसके पूर्व की छ: माही की औसत 886 से 2 बिन्दु ज्यादा है इसके कारण गत छ: माही में मान्य किये गये अखिल भारतीय उपभोक्ता मूल्य सूचकांक के औसत के उपर (288-286) = 02 औसत बिन्दुओं की वृद्धि हुई है। अगरबत्ती नियोजन में भी उपभोक्ता मूल्य सूचकांक औसत में 2 बिन्दुओं की वृद्धि होने के कारण 1 अक्टूबर,2018 से जारी दरें देय है। परिवर्तनशील महंगाई भत्ता मिलाकर साधारण अगरबत्ती के लिये 33.15 रूपये तथा सुगंधित अगरबत्ती के लिये

Related Posts you may like

प्रमुख खबरें