Tuesday ,20-Nov-18 ,
- 860211211      - padamparag@gmail.com
ताज़ा खबर

नोटबंदी ने 35 लाख से रोजगार छीने, 105 की गई जान: कांग्रेस

padamparag.in

नई दिल्ली । दो साल पहले आठ नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी की थी। यह भारतीय अर्थव्यवस्था के इतिहास में एक खास दिन के तौर पर दर्ज है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इसी दिन रात आठ बजे दूरदर्शन के जरिए देश को संबोधित करते हुए 500 और 1000 के नोट बंद करने का एलान किया था। नोटबंदी की यह घोषणा उसी दिन आधी रात से लागू हो गई। इससे कुछ दिन देश में अफरातफरी का माहौल रहा और बैंकों के बाहर लंबी कतारें लगी रहीं। बाद में 500 और 2000 के नए नोट जारी किए गए। कांग्रेस ने नोटबंदी के दो साल पूरे होने पर हैशटैग ( नोटबंदी की बरसी) से कई ट्वीट किए। नोटबंदी की देश को कितनी कीमत चुकानी पड़ी, इसको ट्वीट से बताते हुए कहा, नोटबंदी ने 3.5 मिलियन(35 लाख) नौकरियां छीनीं, 15 मिलियन(1.5 करोड़) श्रम बल का नुकसान किया और देश की जीडीपी को 1.5 प्रतिशत का नुकसान। आठ हजार करोड़ नोटों की छपाई पर खर्च हुए, वहीं पीएम मोदी के नोटबंदी स्टंट ने 105 जानें लीं। एक अन्य ट्वीट में कांग्रेस ने लिखा न काले धन पर लगी लगाम, नकली मुद्रा-टेरर फंडिंग जारी है। नोटबंदी का सच जनता ने जाना, भुगतान की अब तुम्हारी बारी है। एक अन्य ट्वीट में लिखा- नोटबंदी से मोदी जी ने, किया ये गड़बड़झाला। सौ से ज्यादा परिवारों में, अंधकार कर डाला. कांग्रेस ने कहा कि नोटबंदी के दो साल होने पर वह शुक्रवार को राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन करेगी। पार्टी ने कहा है कि अर्थव्यवस्था को बर्बाद और तहस-नहस करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लोगों से माफी मांगनी चाहिए। कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने कहा कि दो साल पहले नोटबंदी के तुगलकी फरमान से देश की अर्थव्यवस्था को पूरी तरह तबाह करने के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद करने के लिए कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता सड़कों पर उतरेंगे।

Related Posts you may like