Friday ,14-Dec-18 ,
- 860211211      - padamparag@gmail.com
ताज़ा खबर

पकौड़े बेचना और चाय बेचना भी रोजगार हैं

padamparag.in

इन्दौर । भारतीय जनता पार्टी की सांसद और राष्ट्रीय प्रवक्ता मीनाक्षी लेखी आज इंदौर में संभागीय मीडिया सेंटर पर पत्रकारों से बेबाक बातचीत के दौरान उनके सवालों के जवाब देते हुए बोली के राम मंदिर बने यह भारतीय जनता पार्टी का हर कार्यकर्ता चाहता है और इसके लिए वो पूर्ण रूप से समर्पित है, हम उसे राजनीति से अलग रखना चाहते लेकिन अनावश्यक सवालों के जरिए इसे विवाद का विषय बनाया जाता है मामला सुप्रीम कोर्ट में है बहस लगातार चल रही है लेकिन नेशनल हेराल्ड मामले में कोर्ट 4 दिसंबर की तारीख देती है और राम मंदिर को जनवरी की तारीख दी जा रही है जबकि इस मुद्दे से 70% जनता प्रभावित है कोर्ट को इस मुद्दे पर जल्दी सुनवाई करनी चाहिए ताकि मुद्दा हल हो। राफेल के रेट और मंदिर के डेट पर मीनाक्षी लेखी का कहना था कि कोर्ट में मामला लंबित है और हिंदुस्तान का सबसे पुराना केस है तो इसकी डेट में नहीं बता सकती और रामचंद्रजी ही तय करेंगे "जब चाहेंगे राम तो बनेगा मंदिर'। राफेल के रेट पर उनका कहना था कि यह बात सामने आ चुकी है कि इसका रेट यूपीए के समय से 9% कम है मीनाक्षी लेखी के बजाय जफर इस्लाम ने राफेल सौदे को और अधिक "क्लियर" करते हुए कहा इसके रेट को लेकर कांग्रेस की समझदारी पर हंसी आएगी सादे जहाज की कीमत उनके समय जो तय की गई थी उस से 9% कम होकर उसने नई टेक्नोलॉजी नई मिसाइल सिस्टम पर भी नेगोशिएट कर उस वक्त के मुकाबले 20% कम ही है, कांग्रेसी चाहती है कि उसका ब्रेकअप बताया जाए ताकि पाकिस्तान में बैठे लोगों को "वेपन डिटेल" पता लग जाए कौन सी मिसाइल बनाई गई, लगाई गई, उसकी क्या रेंज है, चाइना को पता चल जाए यह कांग्रेस पार्टी चाहती है राहुल गांधी देश की सुरक्षा से खिलवाड़ कर रहे हैं कांग्रेस की यही डिमांड है कि राफेल का ब्रेकअप दिया जाए ताकि दुश्मनों को पता चल जाए। बेरोजगारी और विकास के मुद्दे पर मीनाक्षी लेखी स्पष्ट करना चाह रही कि विकास के बाद भी बेरोजगारी के कई कारण हो सकते हैं यदि नौकरी हजार है और आपने 2000 प्रत्याशी तैयार किए तो 1000 लोग तो बेकार हो गए ही बेरोजगारी और लोगों की क्वालीफिकेशन के बीच "अनमैच" चल रहा है साढे 17 करोड़ लोगों को मुद्रा लोन के जरिए एंप्लॉयमेंट जनरेशन का काम हमने किया है, जब पत्रकार ने सवाल उठाया कि जब तक रोजगार जनरेट नहीं होते तो क्या पढ़ाईया बंद कर दी जाए मीनाक्षी लेखी का तर्क था कि नहीं पढ़ाई ना रोक सकते हैं बल्कि लोगों को समझाया जाए कि यह बी. ए . पास की डिग्री रोजगार के लिए जरूरी नहीं है कुछ "स्किल्ट्रेनिंग" शायद ज्यादा कामयाब रहेगी 'पकौड़े बेचना और चाय बेचना' भी रोजगार का साधन है हम निरंतर प्रयास कर रहे एजुकेशन सिस्टम में भी बदलाव की कोशिश हो रही है धन उपार्जन और रोजगार अर्जन के प्रयास पिछले 4 साल से लगातार किए जा रहे ताकि बजट में ज्यादा से ज्यादा पैसा आए और स्थिति ठीक हो 70 साल की खराब चीजें 4 साल में ठीक नहीं हो सकती है। आर.एस.एस. पर कांग्रेस के वचन पत्र में प्रतिबंध और कमलनाथ के मुस्लिम समुदाय के साथ बातचीत के वायरल वीडियो पर मीनाक्षी लेखी का जवाब था कि इन दोनों बातों से कांग्रेस की मानसिकता स्पष्ट हो गई है देश याद करें कि कमलनाथ संजय गांधी के साथ ही थे उनकी राजनीति संजय गांधी के साथ ही शुरू हुई थी इमरजेंसी उनकी देखी हुई है दिल्ली के सदर बाजार के पास और तुर्कमान गेट पर उन्होंने क्या किया याद करें यह हिंदू मुसलमान के बीच मतभेद कर अपनी सत्ता हासिल करना चाहते हैं यह वही खेल है सघं पर प्रतिबंध की कोशिश दो बार पहले भी हो चुकी है और अधिक क्षमता के साथ उभरा है इन बातों से कुछ नहीं होता क्योंकि सत्ता इनके पास आने वाली नहीं है इनकी यह अभद्र टिप्पणियां ही जनता को इन का इतिहास याद दिलाने के लिए काफी है। कमलनाथ के ट्यूट कि मध्यप्रदेश में विकास नहीं दिखाई देता, पर मीनाक्षी लेखी ने कहा कि यह उनकी उम्र का असर है बहोत्तर साल की उम्र में उनकी नजरे कमजोर हो गई है, उनकी आंखों पर चश्मा चढ़ा है या चश्मा का नम्बर बढ़ गया है इसलिये उन्हें विकास दिखाई नहीं दे रहा है। मध्यप्रदेश में चारो और विकास हुआ सड़क बिजली, पानी जनता की मूलभूत सुविधाएं पूरी हो चुकी है। मध्यप्रदेश ने अब तरक्की की रफ्तार पकड ली है मूलभूत विकास के साथ रोजगार के नये अवसरों ने नूतन संभावनाओं को जन्म दिया है नगरीय जीवन में स्वच्छता का प्रथम उदाहरण इंदौर बना है। यही नहीं कमलनाथजी द्वारा बीजेपी में महिलाओं को सजावट की चीज कहने पर पर मीनाक्षी लेखी ने कहा कि देवी माँ अहिल्या की नगरी में मै कहती हूं कि भारतीय जनता पार्टी में महिलाओं को सर्वोच्च सम्मान मिलता है, श्रीमती सुमित्रा महाजन इंदौर की लगातार 8 बार की सांसद है लोकसभा अध्यक्ष है। इसी के साथ भारतीय जनता पार्टी की महिला नेत्रियां कई उच्च पदों को सुशोभित कर रही है और देश के विकास में सहयोग कर रही है, ऐसे में कांग्रेस के राष्ट्रीय नेता का शर्मनाक बयान कांग्रेस का "चारित्रिक फैलियर" है।

Related Posts you may like