Friday ,14-Dec-18 ,
- 860211211      - padamparag@gmail.com
ताज़ा खबर

शिवसेना ने मुस्लिम आरक्षण की मांग की

padamparag.in

मुम्बई । महाराष्ट्र में शिवसेना विधायक सुनील प्रभु ने कहा है कि जो पिछड़े हुए घटक हैं, चाहे वो मुस्लिम क्यों न हो, उन्हें आरक्षण देना चाहिए। शिवसेना विधायक की ओर से आया यह बयान मराठा आरक्षण की घोषणा के बाद आया है। इस बयान को वोट बैंक की राजनीति के रूप में देखा जा रहा है। शिवसेना हमेशा हिंदुत्व की राजनीति के लिए मुखर रही है। महाराष्ट्र में मराठा आरक्षण को लेकर बीजेपी ने दांव चल दिया है जिसकी वजह राज्य में जातिगत समीकरण बदल गए हैं। राज्य में मराठाओं की अच्छी-खासी आबादी है और किसान आंदोलन से नाराज मराठा भाजपा के पक्ष में लामबंद हो सकते हैं। वहीं असुदुद्दीन ओवैसी का पार्टी ने भी ऐलान किया है वह मुस्लिमों के आरक्षण को लेकर हाइकोर्ट का दरवाजा खटखटाएगी। हालांकि पार्टी की ओर से कहा गया है कि वह कोर्ट में मराठाओं के आरक्षण का विरोध नहीं करेगी। वहीं ओबीसी एक संगठन ने राज्य सरकार के फैसले के खिलाफ याचिका देने को कहा है। दूसरी ओर सीएम देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि मुस्लिमों की जिन जातियों को लगता है कि उन्हें आरक्षण मिलना चाहिए उनको राज्य पिछड़ा आयोग से संपर्क करना चाहिए। आयोग की किसी भी सिफारिश को सरकारें मानने के लिए बाध्यकारी होंगी। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शुक्रवार को विधानसभा को बताया कि जिन लोगों को लगता है कि मुसलमानों में ऐसी जातियां हैं जिन्हें आरक्षण मिलना चाहिए तो वे राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग (एसबीसीसी) से संपर्क कर उससे सर्वेक्षण के लिये अनुरोध कर सकते हैं। फडणवीस ने विधानसभा में कहा कि आरक्षण जाति के आधार पर दिया जाता है और मुसलमानों व ईसाइयों में कोई जाति व्यवस्था नहीं है। उन्होंने कहा, मुसलमानों में कुछ पिछड़ी जातियां हैं क्योंकि उन्होंने हिंदुत्व से धर्मांतरण के समय अपनी जाति बरकरार रखी थी। अभी मुसलमानों में 52 पिछड़ी जातियों को आरक्षण दिया गया है।

Related Posts you may like

प्रमुख खबरें