Sunday ,24-Mar-19 ,
- 860211211      - padamparag@gmail.com
ताज़ा खबर

कृषि कर्जों की सामान्य माफी से ऋण संस्कृति बिगड़ती है: गवर्नर दास

padamparag.in

नई दिल्ली । भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गवर्नर शक्तिकान्त दास ने कहा है कि कृषि ऋणों को सामान्य रूप से माफ कर करने के चलन से ऋण संस्कृति पर बुरा असर पड़ता है और कर्ज लेने वालों का व्यहार बिगड़ता है। गवर्नर दास का यह बयान ऐसे समय आया है जबकि हाल में कई राज्य सरकारों ने कृषि ऋण को सामान्य तरीके से माफ करने की घोषणा की गई हैं। हाल में तीन राज्यों मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की नई सरकार ने किसानों का कर्ज माफ करने की घोषणा की है। कांग्रेस ने इन राज्यों में चुनाव से पहले किसानों से सामान्य कर्ज माफी का वादा किया था। दास ने कहा कि कृषि ऋण माफी संबंधित राज्य सरकार के राजकोष में इसके लिए गुंजाइश से जुड़ी होती है। चुनी गई सरकारों को अपने वित्त के संबंध में फैसले लेने का अधिकार है लेकिन प्रत्येक राज्य सरकार को इस तरह का कोई निर्णय करने से पहले अपने राजकोष में इसके लिए गुंजाइश पर सावधानी से गौर करना चाहिए। राज्य सरकार को यह भी देखना चाहिए क्या उनके खजाने में इसके लिए गुंजाइश है और क्या वे बैंकों को तत्काल कर्ज का पैसा चुका सकती है।

Related Posts you may like

प्रमुख खबरें