Sunday ,24-Mar-19 ,
- 860211211      - padamparag@gmail.com
ताज़ा खबर

तकनीकी शिक्षा पाठ्यक्रम को कृषि, मध्यम, लघु एवं सुक्ष्म उद्योगों की जरूरतों के अनुसार बनाकर युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ा जाऎगा -तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री

padamparag.in

जयपुर, । तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने कहा कि तकनीकी शिक्षा पाठ्यक्रम को कृषि तथा मध्यम, लघु एवं सूक्ष्म उद्योगों की जरूरतों के अनुसार बनाकर युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ा जाऎगा। डॉ. गर्ग मंगलवार को यहां शासन सचिवालय स्थित मंत्रालय भवन में कॉन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री (सीआईआई) के प्रतिनिधिमंडल के साथ चर्चा कर रहे थे। सीआईआई प्रतिनिधिमंडल ने तकनीकी शिक्षा मंत्री से मिलकर मानव संसाधन एवं शिक्षा को ग्रोथ इंजन बताते हुए रोजगार एवं ग्रोथ के लिए युवाओं में कौशल विकसित कर उद्योगों की आवश्यकताएं पूरी करने पर चर्चा की। उन्होंने इंडस्ट्री इंस्टीट्यूट इंटरफेस की मजबूती, उद्योगों की आवश्यकता के अनुसार कोर्स करिकुलम दुरुस्त करने, इंडस्ट्री लिंक्ड कोर्सेज, आईटीआई - इंडस्ट्री - आरएसएलडीसी पार्टनरशिप, आरएसएलडीसी स्किल मिशन, एप्रेंटिसशिप संचालन जैसे बिंदुओं पर चर्चा कर सुझाव दिए। तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री ने कहा कि युवाओं को प्रशिक्षित कर रोजगार से जोड़ने में तकनीकी शिक्षण संस्थानों की बड़ी भूमिका है। इसके लिए आवश्यक है कि तकनीकी शिक्षा पाठ्यक्रम उद्योगों की जरूरतें पूरी करें। उन्होंने कहा कि वर्तमान में कृषि तथा मध्यम, लघु एवं सूक्ष्म उद्योग (एमएसएमई) जैसे सेक्टर में रोजगार की प्रबल संभावनाएं है। स्थानीय उद्योगों की मांग के अनुसार प्रशिक्षण मिलने से युवा आसानी से अपना काम शुरू कर आर्थिक रूप से स्वावलंबी बन सकेंगे। उन्होंने आधुनिक एवं स्थानीय स्तर के उद्योगों की जरूरतों को पूरा करने के लिए कोर्स करिकुलम की समीक्षा कर दुरुस्त करने पर बल दिया।

Related Posts you may like

प्रमुख खबरें