Sunday ,24-Mar-19 ,
- 860211211      - padamparag@gmail.com
ताज़ा खबर

पुरुषों के मुकाबले महिलाओं में ज्यादा होता है चिड़चिड़ापन

padamparag.in

आम तौर पर यह देखा जाता है कि उदास होना, गुस्सा आना या चिड़चिड़ाना किसी को भी अच्छा नहीं लगता है पर अब एक नये अध्ययन में सामने आया है कि चिड़चिड़ापन पुरुषों के मुकाबले महिलाओं में ज्यादा होता है। ऐसा दोनों के विकास में अतंर होने के कारण होता है। साथ ही कहा गया कि चिड़चिड़ाने जैसी नकारात्कम फीलिंग भी हमारे लिए अच्छी होती है। मनुष्य के विकास के साथ ही इस फीलिंग का भी विकास हुआ है और यह हमें कई पुरानी बीमारियों से बचाता है। शोधकर्ताओं का कहना है कि यह फीलिंग कई संक्रमणों के खिलाफ हमारे शरीर की प्रतिक्रिया होती है। इसे बेहतर समझने के लिए शोधकर्ताओं ने लगभग 2500 लोगों से बातचीत की। उन्हें लगभग 75 परिस्थितियां दी गईं और देखा गया कि किसे कितनी ज्यादा घिन आई। इन परिस्थितियों में गंदगी, गंदे टॉइलट्स, शरीर की दुर्गंध, जानवरों से होने वाली बीमारियां, घाव में पस, खराब सेक्शुअल व्यवहार, खराब बॉडी शेप आदि थे। देखा गया कि महिलाओं की प्रतिक्रियां पुरुषों के मुकाबले ज्यादा थी। उन्हें ये चीजें ज्यादा घिनौनी लगीं। इन परिस्थितियों में से सबसे ज्यादा लोगों को पस भरे घावों से घिन आई। महिलाओं ने सबसे ज्यादा सेक्शुअल बिहेविअर और जानवरों से होने वाली बीमारी बुरी लगी। इससे महिलाओं को प्रजनन के वक्त फायदा होता है। वह इन परिस्थितियों से बचती हैं और इस तरह वे और उनका होने वाला बच्चा इंफेक्शन्स और अन्य बीमारियों से बच जाता है।

Related Posts you may like

प्रमुख खबरें