Sunday ,24-Mar-19 ,
- 860211211      - padamparag@gmail.com
ताज़ा खबर

बेडरूम हो रहा विषैला, गंभीर बीमारियों का खतरा बढ़ा

padamparag.in

घर में हम आराम के क्षण बेडरूम में गुजारते है पर क्या आप जानते हैं आपका बेडरूम विषैला होता जा रहा है और यह कई बीमारियों को आमंत्रण दे रहा है। हाल ही में हुए एक शोध में यह बात सामने आई है कि हम अपने जीवन का 36 फीसदी हिस्सा बेडरूम में गुजारते हैं। मगर हमारी यह आराम वाली जगह कई विषैले रसायन और माइक्रोब्स (जीवाणुओं) का अड्डा बन जाती है। यूनिवर्सिटी ऑफ मैनचेस्टर समेत कई अन्य शोधों में कहा गया है कि हमारा बेडरूम इस हद तक विषैले तत्वों से भर जाता है कि इससे हमारी सेहत के लिए गंभीर खतरे उत्पन्न हो सकते हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि जब हम सो रहे होते हैं तो हमारे शरीर का तंत्र मरम्मत और उपचार के फॉर्म में आ जाता है। इसका मतलब यह हुआ कि इस समय हमारा शरीर सबसे ज्यादा संवेदनशील होता है। विशेषज्ञों का कहना है कि अपने बेडरूम में मौजूद खतरों के बारे में अंजान बनने से बेहतर है, उसके बारे में जान लिया जाए। आजकल ऐसे गद्दे भी आने लगे हैं, जिनमें आग से बचाव करने वाले तत्वों का भी इस्तेमाल किया जाता है। मगर डेवन की एक ईको आर्किटेक्चर कंपनी गेल एंड स्नोडन के डेविड गेल का कहना है कि गद्दों को आग से बचाने वाला बनाने के लिए उसमें जिन रसायनों का इस्तेमाल किया जाता है, वह सेहत के लिए खतरनाक होता है। इसमें कार्सिनोजेन भी हो सकता है। यह कमरे में मौजूद धूल में मिल जाते हैं और सांस लेने के साथ यह हमारे शरीर में दाखिल हो जाते हैं। इससे निपटने के लिए कमरे को हवादार और धूल रहित बनाए रखना अच्छा हो सकता है। कमरे में बिछी कालीन आपके अस्थमा का कारण हो सकता है। कमरे में बिछी कार्पेट में धूल के बारीक कण, एलर्जी पैदा करने वाले तत्व, माइक्रोऑर्गेनिज्म जमा हो जाते हैं। इनकी मौजूदगी खतरनाक परेशानियों की जनक हो सकती हैं। यह दमा के अलावा त्वचा में जलन, सूजन और दानों का कारण हो सकते हैं। सबसे खतरनाक होते हैं धूल के कण, जिनसे गंभीर एलर्जी हो सकती है। सिर के नीचे लगा आरामदेह तकिया आपको बीमार करने का एक और बड़ा कारण हो सकता है। कई बार इसका कारण घर में आने वाले वे मेहमान हो सकते हैं, जिनके साथ तकिया शेयर करना पड़ता है।

Related Posts you may like

प्रमुख खबरें