Friday ,22-Feb-19 ,
- 860211211      - padamparag@gmail.com
ताज़ा खबर

बचपन से ही मां रखे बेटे से दोस्त से रिश्ते

padamparag.in

बचपन से ही अपने बेटे के साथ मां होने के साथ ही दोस्त की तरह भी रिश्ता रखें। इसका फायदा बेटे के बड़े होने पर मिलता है। दरअसल, टीनेज होते-होते बच्चे कई बातों को पैरंट्स से छुपाना शुरू कर देते हैं, ताकि उन्हें डांट नहीं पड़े। लेकिन अगर आपका दोस्ती का रिश्ता है तो बड़े होने पर भी भले ही देर से सही वह आपको अपने परेशानियों के बारे में जरूर बताएगा और फिर आप उसे सही राय देकर गाइड कर सकेंगी। वैसे तो हर बच्चे की अपनी पसंद और नापसंद होती है, लेकिन लड़कों व लड़कियों की पसंद-नापसंद में बहुत ज्यादा अंतर होता है। लड़कों को क्या पसंद है और इस जानने की कोशिश करें। अगर आपकी कोई दोस्त या रिश्तेदार है जो लड़के के पैरंट्स हैं तो उनसे भी आप राय ले सकती हैं। चाहे तो चाइल्ड एक्सपर्ट से भी राय ले सकती हैं, ताकि आप बेटे की पसंद को पहचान कर उसकी सही ग्रूमिंग कर सकें। बच्चों को ज्यादा टोकना उनके दूर होने का सबसे बड़ा कारण है। गलत बातों पर टोका जाए तो सही है, लेकिन छोटी-छोटी बातों के लेकर उसे डांटना या फिर लगातार उसे बदलने की कोशिश करते रहना उसमें गुस्सा भर देगा और बेटा आपसे दूर रहने की कोशिश करने लगेगा, जो किसी भी परिवार के लिए अच्छा नहीं है। महिला होने के नाते बचपन से ही आपको अपने बेटे को लड़कियों का सम्मान करना सिखाना चाहिए। साथ ही उसे घर के काम-काज भी सिखाएं, ताकि वह बड़े होकर वह आत्मनिर्भर बनने के साथ ही हैपी फैमिली भी बना सकें। ऐसा होने पर आखिर तक उसके मन में आपके लिए प्यार के साथ ही सम्मान भी बना रहेगा। कहा जाता है कि बेटा अपने पिता से ज्यादा मां के करीब होता है। मां-बेटे के बीच का स्पेशल बॉन्ड ही इस रिश्ते को और प्यारा व स्ट्रॉन्ग बनाता है। उपर बताए तरीके से इस रिश्ते को और भी ज्यादा स्ट्रॉन्ग बनाया जा सकता है।

Related Posts you may like

प्रमुख खबरें

padamparag.com