Sunday ,21-Apr-19 ,
- 860211211      - padamparag@gmail.com
ताज़ा खबर

सर्रा में पांच दिवसीय कोया पुनमे गोंडी धर्म दर्शन समारोह हुआ विभिन्न कार्यक्रमों के साथ सम्पन्न

padamparag.in

गोंडी धर्म दर्शन के अनुसार कोया पुनमे पांच दिवसीय कार्यक्रम सर्रा  फुलर में आयोजित हुआ जिसमें गोंडी धर्म दर्शन के सुविख्यात विद्वान धर्माचार्य तिरु सोहन शाह पन्द्रे जी द्वारा प्रवचनों से आदिवासी गोंडी समाज का मार्गदर्शन किया
इस मौके पर दमोह जिले की समस्त गोंड आदिवासी की उपस्थिति रही समाज कोया गोंडी धर्म दर्शन का यह धार्मिक अनुष्ठान 27 जनवरी से शुरु हुआ था जो 1 फरवरी को सपन्न हुआ है आपको बता दें कि गोंडी धर्म आदिवासी गोंड समाज के प्रथम गुरु पहंदीपारी कुपार लिंगों द्वारा इस धर्म का स्थापना की गई थी यह धर्म करोड़ों वर्ष पुराना कोया पुनमे गोंडी धर्म कहलाता है इस धर्म के लोग प्राकृतिक पूजक हैं कोई काल्पनिक शक्ति को नहीं पूजते।यह केवल प्रकृति से जुड़ी महान शक्तियां जल वायु अग्नि पृथ्वी आकाश और अपने बूढ़ादेव का फड़ापेन बड़ा देव और लिंगवासी पूर्वजों को पूज्ते हैं 
यह काल्पनिक भगवानों को नहीं मानते।प्राकृतिक दर्शन करते हुए अपने गोंडी धर्म के प्रति समस्त आदिवासी समाज को जागृत करने में गांव गांव जागृति लाई जा रही है और देखने को मिल रहा है गोंड समाज महासभा मध्यप्रदेश के सह सचिव तिरुमाल कौशल पोर्ते ने बताया है कि हर जिले कस्बे में गोंडी समाज के बीच गोंडी धर्म को प्रचलित कर प्रचार प्रसार किया जा रहा है समाज में जन जागृति लाने के लिए इस गोंडी धर्म कार्यक्रम को कोया पुनमे गोंडी धर्म दर्शन के लिए प्रेरित किया जा रहा है 

लोगों को अपने हजारों वर्ष पहले स्थापित हुए प्राकृतिक गोंडी धर्म की ओर आकर्षित करने और सभी का मार्गदर्शन करते हुए यह कार्यक्रम किया गया है गोंड समाज महासभा युवा मोर्चा के जिला मीडिया प्रभारी कुँवर सुनील शाह ऐड़ाली ने बताया है कि गोंडी धर्म के प्रति समस्त गोड़ आदिवासी समाज सभी पढ़े लिखे भाई बहन जागृत हो रहे हैं और शिक्षित संगठित होते जा रहे हैं जिसका परिणाम अच्छा देखा जा सकता है कुछ वर्षों पहले की बात करें तो गोंडी धर्म को कम लोग ही जानते थे और आज पूरे भारत ने इसका धीरे धीरे प्रचार प्रसाद हुआ और युवाओं ने पढ़े लिखे समाज के बुद्विजीवी बुजुर्गों ने इसे अपनाया है  समस्त मध्यप्रदेश के सभी जिलों में गोंडी धर्म प्रचार प्रसार तेजी से बढ़ता देखा जा सकता है कार्यक्रम समापन के अवसर पर सांस्कृतिक नृत्य गीत संगीत हुए यह रहे मौजूद कौशल पोर्ते प्रदेश सह सचिव गोंड समाज महासभा मप्र मुन्शी लाल तेकाम उपाध्यक्ष रामकुमार परस्ते  ब्लॉक सचिव भाई लाल ठाकुर ब्लॉक अध्यक्ष गोंडवाना कर्मचारी अधिकारी संघ अशोक सिंह हल्के भाई ठाकुर सहित हजारों आदिवासी समाज व पदाधिकारियों की उपस्थिति रही 

Related Posts you may like

प्रमुख खबरें