Monday ,25-Mar-19 ,
- 860211211      - padamparag@gmail.com
ताज़ा खबर

एसिडिटी बढ़ाते हैं ये खाद्य पदार्थ

padamparag.in

अगर आप एसिडिटी से परेशान रहते हैं तो आपको भारी खाद्य पदार्थों से दूर रहना चाहिये। आम तौर पर भारी आहार लेने के बाद हमें कई बार सीने में जलन का अनुभव भी होने लगता है, खट्टी डकार आने लगती है। ऐसा कुछ अत्यधिक अम्लीय खाद्य पदार्थों के कारण होता है, जिन्‍हें हमारा शरीर आसानी से पचा नहीं पाता जिसके परिणामस्‍वरूप एसिडिटी होने लगती है। इसमें राहत के लिए आसानी से हजम होने वाले खाद्य पदार्थ खाये जिससे पेट में एसिड पर नियंत्रण बना रहे। इनका कम सेवन करें। चॉकलेट चॉकलेट का स्वाद सभी को अच्छा लगता है पर यह आपके पेट के लिए काफी नुकसानदायक साबित हो सकती है। इसमें कैफीन और थियोब्रोमाइन जैसे अन्य पदार्थ होते हैं, जो एसिड का कारण बनते हैं। दूसरा, इसमें काफी फैट होता है, जो एसिड का कारण भी बनता है और तीसरा इसकी अतिरिक्त कोको सामग्री है, जो रिफ्लक्‍स को बढ़ावा देने के लिए भी जिम्मेदार होती है। ऐसे में परेशानियों से बचने के लिए इसकी सीमित मात्रा लें। सोडा पेट में एसिड पैदा करने में सोडा और अन्य कार्बोनेटेड ड्रिंक्‍स भी जिम्मेदार होते हैं। कार्बोनेशन के बुलबुले पेट के अंदर फैलते हैं। बढ़ते दबाव के कारण जलन होने लगती है। वास्तव में, सोडे में कैफीन भी होता है, जो एसिड बनाने में योगदान देता है। अल्‍कोहल बीयर और वाइन जैसे विभिन्न मादक पेय न केवल पेट में गैस्ट्रिक एसिड को बढ़ाते हैं, बल्कि शरीर को डिहाइड्रेट कर एसिड बनाते हैं। इसके अलावा, यहां तक कि अगर आप अल्‍कोहल ले रहे हैं, तो इसे सोडा या कार्बोनेटेड पेय के साथ न मिलाएं। कैफीन एक दिन में एक कप कॉफी या चाय पीना ठीक है, इसका अधिक सेवन आपको एसिडिटी का शिकार बना सकता है, क्योंकि इनमें कैफीन की मात्रा अधिक होती है। कैफीन के सेवन से पेट में गैस्ट्रिक एसिड का स्राव होता है, जिससे एसिडिटी होती है। कभी भी खाली पेट चाय या कॉफी न पिएं। मसालेदार खाना मसालेदार खाने का अधिक सेवन हमारे स्वास्थ्य पर बुरा असर डालता है। मिर्च, गर्म-मसाला और काली मिर्च सभी नेचुरल रूप से एसिडिक होते हैं। इन्हें अधिक खाने से एसिड बनने लगता है। ये तभी सेहतमंद होते हैं जब आप इनका सेवन सीमित मात्रा में करते हैं। फैटी फूड फैटी फूड्स अत्यधिक अम्लीय होते हैं और वे पेट में लंबे समय तक रहते हैं, जिससे एसिडिटी होने की संभावना बढ़ जाती है।बहुत अधिक फ्राईड फूड, मीट खाने से बचें, इन्‍हें पचने में काफी समय लग‍ता है। खट्टे फल फल सेहत के लिए अच्छे होते हैं, हालांकि, कुछ खट्टे फल अगर खाली पेट खाए जाएं, तो यह एसिडिटी का कारण बन सकते हैं। संतरा, नींबू, टमाटर, जामुन जैसे खट्टे फल अत्यधिक अम्लीय होते हैं और हार्ट बर्न का कारण बन सकते हैं. कभी भी खाली पेट इन फलों का सेवन न करें।

Related Posts you may like

प्रमुख खबरें