Monday ,25-Mar-19 ,
- 860211211      - padamparag@gmail.com
ताज़ा खबर

Black Ribbon Initiative” 'संकल्प' अभियान के तहत 308वीं कार्यशाला संपन्न ।

padamparag.in

इन्दौर - अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक, इंदौर झोन, इंदौर श्री वरूण कपूर द्वारा “Black Ribbon Initiative” के तहत सायबर जागरूकता अभियान संचालित किया जा रहा है। इस लोकप्रिय अभियान की 308 वीं कार्यशाला का आयोजन सेज यूनिवर्सिटी,इंदौर के सभागृह में किया गया जिसमें 378 छात्र-छात्राओं व फेकल्टीज ने भाग लिया व सायबर सुरक्षा के संबंध में जानकारी प्राप्त की। कार्यशाला को संबोधित करते हुए श्री वरूण कपूर, अमनि द्वारा सायबर अपराध बढ़ने के कारणों को विस्तृत रूप से समझाया गया। सायबर अपराध बढ़ने का कारण सुरक्षा के मापदंड नहीं अपनाना, नियमों की जानकारी न होना एवं असली दुनिया के मापदंड वर्चुअल वर्ल्ड में अपनाना ही सायबर अपराध बढ़ने का मुखय कारण है। यह युग इंफर्मेशन का युग है, जिसके पास जितनी ज्यादा इंफर्मेशन होगी वह उतना ही सशक्त होगा। आजकल अपराधी भी हमारी सोशल मीडिया पर शेयर की गई जानकारी का उपयोग कर सायबर अपराध को अंजाम दे रहे है । इसलिये अपनी सारी जानकारी सोशल मीडिया पर शेयर न करें। जब आप किसी एप को डाउनलोड करते हैं तो टर्म्स एंड कंडीशंसपर आई एग्री क्लिक करने के बाद ही वह डाउनलोड होता है। वैसे सभी कंपनिया सिक्युरिटी का ध्यान रखती है, परंतु किसी गलत हाथ में आपका डाटा पहुंच गया तो उसका उपयोग कर किसी भी प्रकार के अपराध को अंजाम दिया जा सकता है । केंब्रिज एनालिटिका का उदाहरण देते हुए यह बताया कि उन्होंने फेसबुक से डाटा प्राप्त कर इस प्रकार से उसका अमेरिका के चुनाव के दौरान उपयोग किया व अमेरिका के चुनाव को प्रभावित किया। इसलिये आपका डाटा ही आपकी शक्ति है इसे संभाल कर रखें और गलत हाथों में जाने से बचाये । कार्यशाला को संबोधित करते हुए श्री वरूण कपूर ने विशेष तौर पर छात्र-छात्राओं को जियो टेंगिंग के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि आप जब मोबाईल डिवाईस खरीदते हैं तो उसमें जियो टेगिंग ऑन रहता है । आप उससे सेल्फी या फोटो खींचते है और सोशल मीडिया पर शेयर करते हैं तो ऑन लाईन शिकारी उस फोटो के द्वारा लांगिट्‌यूड-लेटिट्‌यूड ज्ञात कर उसे गूगलमेप में पोस्ट कर आपकी वास्तविक लोकेशन ज्ञात कर लेते हैं एवं आपके विरूद्ध अपराध को अंजाम दिया जा सकता है। इससे बचने के बारे में बताते हुए श्री वरूण कपूर ने बताया कि आईफोनउपयोग कर रहे हैं तो उसमें सेटिंग में जाए उसके बाद प्रायवेसी सेटिंग को क्लिक करें फिर लोकेशन सर्विसेस में जाए उसमें केमरा लोकेशन में लोकेशंस सर्विस को बंद करें और जो व्यक्ति एंड्राईड फोन उपयोग कर रहे हैं वह जियो टेगिंग का आप्शन बंद करें और अपने को सुरक्षित रखें। इसके अतिरिक्त सायबर के विभिन्न अपराधों की जानकारी देते हुए श्री कपूर ने आगे बताया कि :- • सायबर बुलिंग, सायबर स्टॉकिंग, फेसबुक स्टॉकिंग, मार्फिंग, फेक प्रोफाईल सायबर से जुड़े वे अपराध है जिनके बारे में जानकारी होना आवश्यक है। • आधुनिक टेक्नॉलॉजी का इस्तेमाल सुरक्षित ढंग से करते हुए उसका इस्तेमाल अपने लाभ के लिये करें न कि दूसरों को नुक्सान पहुंचाने में। • युवा सोच समझकर ही फेसबुक पर दोस्त बनाये। इलेक्ट्रॉनिक्स डिवाईस का उपयोग करते समय हमेशा अपने मस्तिष्क में सुरक्षा की बातों को बनाये रखें। • वर्तमान्‌ में नागरिकों को नित नये-नये सायबर अपराधों का सामना करना पड़ रहा है। इसकी जानकारी हमें समाचार-पत्रों/न्यूज चैनलों से प्रतिदिन प्राप्त हो रही है। • सायबर अपराधों को नियंत्रित करने व इसके दुष्प्रभावो से बचने का सबसे सशक्त माध्यम है युवाओं, छात्रों व आम नागरिकों की-जागरूकता । इस अवसर पर इस कार्यशाला में द्राामिल छात्र-छात्राओं ने अपनी बातें प्रश्नों के माध्यम से रखी, जिनका समाधान श्री कपूर ने सहजता से किया। कार्यशाला में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले दो सक्रिय छात्र-छात्राओं क्रमशः ब्रजपाल पंवार एवं कु. सोनाली केदार को श्री कपूर ने प्रमाण-पत्र व गोल्डन बैज प्रदान कर सम्मानित किया। इस अवसर पर छात्र-छात्राओं एवं अन्य स्टॉफ के साथ उपुअ सुभाष सिंह, सीएसपी आजाद नगर सुरेंद्र सिंह तोमर भी उपस्थित रहे। कार्यक्रम के अंत में संस्थान की ओर से विभागाध्यक्ष मेकेनिकल विभाग सुश्री सुमन द्रार्मा द्वारा श्री कपूर को मोमेंटों व प्रमाण पत्र प्रदान किया गया। कार्यक्रम का समन्वय डीन श्री अभय कार्किडे द्वारा किया गया

Related Posts you may like

प्रमुख खबरें