Monday ,25-Mar-19 ,
- 860211211      - padamparag@gmail.com
ताज़ा खबर

लोकसभा चुनाव में कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहती भाजपा

padamparag.in

रायगढ़, । लोकसभा चुनाव के लिए जहां एक ओर उलटी गिनती शुरू हो चुकी है, वहीं सभी पार्टियों से दावेदारियां भी सामने आने लगी है। इस सब के बीच जहां कांग्रेस से दर्जनों नाम दावेदारों की लिस्ट में सामने आ रहे हैं तो वहीं भाजपा से पिछले तीन बार लगातार सांसद बनते आ रहे विष्णुदेव साय की भी मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं। वहीं, विधानसभा में मिली करारी हार के बाद भाजपा लोकसभा चुनाव में कोई कोर कसर छोड़ना नहीं चाहती है। बताया जा रहा है कि राज्य की सभी संसदीय सीटों के लिए भाजपा उम्मीदवारों का पैनल तैयार कर नामों को दिल्ली भेजा जाएगा। बताया जा रहा है कि हर जगह से एक पैनल में तीन नाम भेजे जा रहे हैं, जिसमें रायगढ़ संसदीय सीट से पहले नंबर पर वर्तमान सांसद व केंद्रीय मंत्री विष्णुदेव साय का नाम है तो वहीं दूसरे नम्बर पर रायगढ़ राजमहल से जुड़े देवेंद्र प्रताप सिंह का नाम है। तीसरा नाम सुरेंद्र बेसरा का है। पैनल में दूसरे नम्बर के दावेदार रायगढ़ पैलेस के दवेंद्र प्रताप सिंह के लिए भी पार्टी का एक बड़ा खेमा लगा हुआ है। राजा चक्रधर नरेश के वंशज होने के नाते इनके साथ ही आदिवासी समुदाय का बड़ा खेमा जुड़ा है। साथ ही साथ रायगढ़ जिले से अब तक एक बार भी सांसद न बनने की आवाज का भी देवेंद्र को खासा लाभ मिल सकता है। वहीं तीसरे नंबर पर आ रहे नाम सुरेंद्र बेसरा संघ के पसंदीदा प्रत्याशी बताए जा रहे हैं। ऐसा माना जा रहा है कि अगर विष्णुदेव साय की टिकट कटती है तो बेसरा संघ का समर्थन पाकर टिकट की दौड़ में आगे हो सकते हैं। जानकारी के मुताबिक इन तीनों नामों को दिल्ली भेजा गया है। बताया जा रहा है पैनल के नामों को पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के द्वारा कराए गए सर्वे रिपोर्ट से मिलाया जाएगा और उसके बाद प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी सहित पार्टी के आला नेताओं की मंत्रणा के बाद दावेदारों के नाम तय होंगे। तीन चरणों में हुआ सर्वे बताया जा रहा है। विधानसभा में मिली करारी हार के बाद भाजपा लोकसभा चुनाव में कोई कोर कसर छोड़ना नहीं चाहती है। यही कारण है कि अब पार्टी तीन चरणों में सर्वे करवा चुकी है और वह किसी बड़े नेता की पैरवी पर विचार करने की जगह सीधे सर्वे करवाया है। अपने कार्यों के बल पर विष्णुदेव साय कर रहे हैं दावेदारी दावेदारी के बारे में केंद्रीय मंत्री विष्णुदेव साय से बात की गई तो उन्होंने कहा कि वह पिछले तीन बार से उनके द्वारा किए गए कार्यों की बदौलत ही जीतते आए हैं। इस बार भी वह अपने कार्यों को लेकर ही जनता के बीच जाएंगे। अन्य दावेदारों के बारे में साय का कहना है कि दावेदारी करना कोई गलत बात नहीं है। भाजपा का कोई भी कार्यकर्ता दावेदारी कर सकता है। नाम तय करना केंद्रीय कमेटी का कार्य है। जनता के बीच सक्रियता कम रखने के आरोप को सिरे से खारिज करते हुए साय ने कहा कि उनके द्वारा किए गए एक-एक काम का हिसाब पीएमओ के पास है। जिले में वह जनता के बीच कितना गए और क्या काम किया इसका हिसाब भी है

Related Posts you may like

प्रमुख खबरें