Monday ,25-Mar-19 ,
- 860211211      - padamparag@gmail.com
ताज़ा खबर

योगी का दावा, भाजपा सरकार ने 23 महीने में दिए 23 लाख पीएम आवास

padamparag.in

लखनऊ, । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दावा किया है कि उनकी सरकार ने 23 माह के अंदर 23 लाख प्रधानमंत्री आवास बनवाकर गरीबों को आवंटित कर दिया। उन्होंने यह भी कहा कि इस दौरान राज्य की भाजपा सरकार ने 1.71 करोड़ शौचालय भी बनवा दिये। मंगलवार को यहां जारी एक बयान में मुख्यमंत्री योगी ने प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर कटाक्ष भी किया। कहा कि अखिलेश यादव इस समय प्रदेश के किसी गांव में चले जाएं तो मुंह दिखाने लायक नहीं रहेंगे। योगी ने कहा कि सच्चाई यह है कि अखिलेश की सरकार के समय उत्तर प्रदेश में पीएम आवास योजना (शहरी) में केवल 20 हजार आवास स्वीकृत हुए थे, जबकि उनके पास दो साल का समय था। दूसरी तरफ हमारी सरकार के अभी 23 माह ही हुए हैं। इतने समय में ही 11 लाख से अधिक आवास शहरी गरीबों को मिल चुका है। उन्होंने कहा कि इसी तरह पीएम आवास योजना (ग्रामीण) में अखिलेश की सरकार दो साल में 63 हजार से ज्यादा आवास नहीं दे पाई थी, जबकि हमारी सरकार ने 23 महीने में 12 लाख आवास ग्रामीण गरीबों को वितरित कर दिया है। इसमें 10 लाख आवास बन चुके हैं। सपा ने 40 लाख तो हमारी सरकार ने बनवाए 1.71 करोड़ शौचालय योगी ने आगे कहा कि पूर्ववर्ती अखिलेश सरकार ने दो साल में प्रदेश भर में केवल 40 लाख शौचालय बनाए। वहीं हमारी सरकार ने दो साल में 1.71 करोड़ शौचालय बनाए हैं। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार में किसी भी गरीब परिवार को बिजली कनेक्शन नहीं मिला था, जबकि हमारी सरकार ने एक करोड़ से अधिक गरीबों को बिजली कनेक्शन उपलब्ध करवाया है। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि पहले गेंहू का न्यूनतम समर्थन मूल्य 1460 रुपये था, जिसे पिछले साल प्रधानमंत्री मोदी ने बढ़ाकर 1840 रुपये कर दिया है। उन्होंने कहा कि सपा की सरकार में किसानों से न तो धान खरीदा जा रहा था और न तो गेहूं खरीद जाता था। आलू, दलहन, तिलहन की कोई खरीद नहीं हो रही थी। योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश के अंदर खरीद पालिसी को लेकर कोई व्यवस्था नहीं थी। धान और गेहूं की उपज को अखिलेश सरकार सीधे नहीं खरीदती थी, एमएसपी तब तक बेईमानी है, जब तक आप किसान के उपज को नहीं खरीदते हैं। उन्होंने ने कहा कि हमारी सरकार ने किसानों से सीधे खरीद करना शुरू किया। 2017 में सीधे किसानों से 37 लाख मीट्रिक टन गेहूं खरीदा गया। 2018 में 53 लाख मिट्रिक टन की खरीद हुई। अखिलेश सरकार का बकाया गन्ना भुगतान हमने किया है योगी ने यह भी दावा किया कि 2011 से लेकर 2017 तक किसानों को गन्ना मूल्य का भुगतान नहीं हो सका था। प्रदेश की भाजपा सरकार ने साल 2011-12 से लेकर 2017-18 तक का पूरा भुगतान किया है। गन्ना किसानों को 56 हजार करोड़ रुपए गन्ना मूल्य का भुगतान हमारी सरकार ने किया। अखिलेश यादव अपने पांच साल के कार्यकाल के दौरान इतना गन्ना मूल्य का भुगतान नहीं किए होंगे, जितना हमारी सरकार ने डेढ़ साल के दौरान किया है। इसके अलावा योगी ने कहा कि धान की खरीद प्रक्रिया से प्रदेश के किसानों के जीवन में अब खुशहाली आई है। 2017-18 में 42 लाख मीट्रिक टन धान की खरीद सीधे किसानों से सरकार ने की। किसानों को 48 घंटे में पैसे का भुगतान उनके बैंक खातों में किया गया है। इस वर्ष (2018-19) सरकार ने 48 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी की गई है। योगी ने कहा कि सपा-बसपा की सरकारें अपने 10 साल के कार्यकाल में जो काम नहीं कर पाई, भाजपा सरकार ने उसे केवल डेढ़ वर्ष के दौरान कर दिखाया। हमारी सरकार ने प्रदेश में 2 लाख हेक्टेअर अतिरिक्त सिंचन की क्षमता अर्जित की है और दिसंबर 2019 में हम प्रदेश में 20 लाख हेक्टेयर अतिरिक्त जमीन को सिंचन क्षमता उपलब्ध करवाने जा रहे हैं। योगी ने कहा कि हमारी सरकार का कार्यकाल दो वर्ष होने जा रहा है, एक भी दंगा नहीं हुआ। उन्होंने प्रयाग कुम्भ के आयोजन भी सफल बताया और कहा कि वर्ष 2013 के कुम्भ सपा शासन के दौरान अव्यवस्था के चलते वहां भगदड़ हुई थी, जिसमें कई लोगों की जान चली गयी थी। मुख्यमंत्री योगी ने दावा किया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा इस बार भी लोकसभा के चुनाव को प्रचंड बहुमत से जीतेगी।

Related Posts you may like

प्रमुख खबरें