Monday ,25-Mar-19 ,
- 860211211      - padamparag@gmail.com
ताज़ा खबर

इस सीट पर कभी नहीं खुला एसपी का खाता

padamparag.in

पिछले लोकसभा चुनाव में बीजेपी के वरुण गांधी ने बएसपी प्रत्याशी पवन पांडे को हराकर अपनी जीत दर्ज की थी, लेकिन इस बार बीजेपी को अपनी सीट बचाने के लिए मशक्कत करनी पड़ सकती है. बीजेपी के साथ यह अपवाद भी रहा है कि सुल्तानपुर से स्थानीय प्रत्याशी कभी नहीं जीत सका, बाहरी प्रत्याशी ही जीतता रहा है. कांग्रेस का गढ़ माना जाने वाली सुलतानपुर सीट हमेशा से चर्चा में रही है, इसीलिए पिछले चुनाव में कद्दावर नेता वरुण गांधी को बीजेपी ने उतारा था. 17वीं लोकसभा के चुनाव में सुल्तानपुर सीट के लिए बीजेपी कार्यकर्ताओं में अटकलों का बाजार गर्म है. एसपी-बएसपी गठबंधन में सुल्तानपुर सीट बएसपी के खाते में गई है. सुल्तानपुर संसदीय सीट से एसपी का अभी तक कभी खाता नहीं खुला है. यही कारण है कि सीट बंटवारे में यह सीट बएसपी को मिली है. बीजेपी कार्यकर्ताओं में सीट को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं चल रही हैं. क्षेत्र में वरुण गांधी की छवि कद्दावर एवं ईमानदार नेता की है. पिछले आंकड़ों को देखा जाए तो सुल्तानपुर में आठ बार कांग्रेस, चार बार बीजेपी, दो बार बएसपी, एक बार जनता दल, एक बार जनता पार्टी और एक बार भारतीय कांति दल का प्रत्याशी विजयी रहा है. समाजवादी नेता मुलायम सिंह यादव ने चंद्रशेखर की समाजवादी जनता पार्टी से अलग होकर चार अक्टूबर 1992 को समाजवादी पार्टी (एसपी) बनायी थी. तब से आज तक जितने भी लोकसभा चुनाव हुए, किसी में भी एसपी का खाता नहीं खुल सका. सुलतानपुर में कुल पांच विधानसभा क्षेत्र हैं, जिनमें से कादीपुर, लंभुआ, जयसिंहपुर और सदर में बीजेपी विधायकों का कब्जा है. इसौली विधानसभा में समाजवादी पार्टी का कब्जा है. 2014 के लोकसभा चुनाव में वरुण गांधी को 410348 वोट मिले थे. कुल मतदान का 42.5 प्रतिशत मत के साथ बीजेपी का परचम लहराया था. बएसपी के पवन पांडे कुल मतदान का 24 प्रतिशत मत प्राप्त कर दूसरे स्थान पर रहे, वहीं एसपी प्रत्याशी शकील अहमद 23.6 प्रतिशत वोट के साथ तीसरे स्थान पर रहे. कांग्रेस की अमिता सिंह को 4.4 प्रतिशत मत के साथ चौथे स्थान पर ही संतोष करना पड़ा था. अब तक कौन जीता 1952 – एसए काजीमी अली, कांग्रेस 1957 – गोविंद मालवीय, कांग्रेस 1960 – बाबू गनपत सहाय, उप-चुनाव, निर्दल 1962 – कुंवर कृष्ण वर्मा, कांग्रेस 1967 – बाबू गनपत सहाय, कांग्रेस 1969- श्रीपति मिश्र, उप-चुनाव, भारतीय क्रांति दल 1970 – केदारनाथ सिंह, उप-चुनाव, कांग्रेस 1971 – केदारनाथ सिंह, कांग्रेस 1977 – जुल्फिकार उल्ला, जनता पार्टी 1980 – गिरिराज सिंह, कांग्रेस 1984 – राजकरन सिंह, कांग्रेस 1989 – राम सिंह, जनता दल 1991 – विश्वनाथदास शास्त्री, बीजेपी 1996 – डीबी राय, बीजेपी 1998 – डीबी राय, बीजेपी 1999 – जयभद्र सिंह, बएसपी 2004 – मो. ताहिर खान, बएसपी 2009 – डॉ. संजय सिंह, कांग्रेस 2014 – वरुण गांधी, बीजेपी.

Related Posts you may like

प्रमुख खबरें