Friday ,27-Nov-20 ,
- 860211211      - padamparag@gmail.com
ताज़ा खबर

सोनी सब के ‘अलादीन: नाम तो सुना होगा’ में मौत का बदला लेने के लिए अलादीन और यास्मीन का हुआ पुनर्जन्म

padamparag.in

ऐसा कहा जाता है कि इतिहास खुद को दोहराता है! इस कहावत को एक बार फिर पारिभाषित कर रहा है सोनी सब का प्रेमी जोड़ा अलास्मीन, जो एक बार फिर अपनी अधूरी कहानी को नए सिरे से लिखने के लिए राख से उठ खड़ा हुआ है। ‘अलादीन: नाम तो सुना होगा’ पूरी तरह एक नई पृष्ठभूमि में योद्धाओं अलादीन और यास्मीन के पुनर्जन्म का गवाह बनने के लिए तैयार है। जैसा कि हम जानते हैं, अलादीन के पिता ओमर के दुखद त्याग और ज़फर के एक शक्तिशाली एय्यार के तौर पर उभरने के कारण अलादीन और यास्मीन की मौत हो जाती है। दर्शक अब इस जोड़े को एक नए अवतार में देखने के लिए तैयार हो जाएँ क्योंकि उनकी ज़िंदगी में उनके पुनर्जन्म के साथ नया मोड आ गया है। इस पुनर्जन्म के घुमावदार मोड के साथ बाज़ी अब पलट गई है और उनकी भूमिकाएँ पूरी तरह बदल गई हैं। सिद्धार्थ निगम जो अलादीन का किरदार निभा रहे थे, अब एक राजकुमार की भूमिका में नज़र आएंगे जो भरपूर लाड़ दुलार के चलते बिगड़ैल बन जाता है जबकि आशी सिंह द्वारा निभाई जा रही यास्मीन, जिसे काली चोरनी कहा जाता है, गरीबों की बहादुर मसीहा के तौर पर उभर कर सामने आएगी। अलास्मीन का रोमांचक नया सफर एक बार फिर शुरू हो जाता है और असली सवाल रह जाता है – इस बार उन्हें एक दूसरे की ओर जाने वाला रास्ता किस तरह मिलेगा? क्या वे अपनी मौत का बदला ले पाएंगे? ‘अलादीन: नाम तो सुना होगा’ में कई नए चेहरों का स्वागत होगा। अलादीन के पिता सुल्तान के तौर पर हर्ष वशिष्ठ, अभिनेत्री शिवानी बदोनी कोयल की भूमिका में और अमित रघुवंशी राजकुमार अलादीन के प्रतिस्पर्धी शीफान के तौर पर शो में प्रमुख किरदारों में नज़र आएंगे। एक तरफ अलादीन और यास्मीन रोमांचक घटनाओं को सामने लाते हैं, वहीं दर्शकों को अम्मी एक नए अंदाज़ में नज़र आएंगी और इस भूमिका को स्मिता बंसल ने निभाया है। अम्मी उर्फ रुख़सार बेगम एक प्रमुख अध्यापिका की भूमिका में दिखेंगी जो छात्रों के लिए एक एकेडमी चलाती हैं। किस तरह पुनर्जन्म, फिर से खोज करने और बदले की यात्रा रूपांतरित होती है, यह एक आनंददायक रोमांच की शुरुआत होगी। प्रिंस अलादीन की भूमिका निभा रहे सिद्धार्थ निगम ने कहा, “अलादीन और यास्मीन के दुखद अंत के बाद, किस्मत ने इस जोड़े को एक बार फिर वापस साथ ला दिया है। राजघराने में, एक राजकुमार के तौर पर जन्मा अलादीन एक बिगड़ैल इंसान बन जाता है और वही करता है जो उसके मन में आता है। उसकी नियति और उसके लिए भविष्य में क्या तय है, उसे इसके बारे में पता नहीं है। राजकुमार अपनी ज़िंदगी पूरी शानो शौकत के साथ जीना पसंद करता है और यह नया अलादीन मनोरंजन और सभी के चेहरों पर हमेशा रहने वाली मुस्कान छोड जाने का वादा करता है। मैं ‘अलादीन: नाम तो सुना होगा’ में इस नए रोमांच को लेकर बेहद उत्साहित हूँ। इस शो में ज़बरदस्त रोमांच देखने मिलेगा और नए चेहरे शो में कुछ बेहद रोमांचक किरदारों का स्वागत करने के लिए तैयार है। ” यास्मीन की भूमिका निभाने वाली आशी सिंह ने कहा, “अब तक यह काफी रोमांचक सफर रहा है और हमारे दर्शकों के लिए मैं एक नई यास्मीन को पेश करने के लिए उत्साहित हूँ। यास्मीन जिसे काली चोरनी भी कहा जाता है, एक ऐसे किरदार में नज़र आएगी जिसे दर्शकों ने इससे पहले इस शो में कभी नहीं देखा। उसकी ज़िंदगी बिलकुल अलग है और वो गरीबों की मसीहा है। यास्मीन साहसी है और काली चोरनी की भूमिका निभाकर समाज में अन्याय के खिलाफ लड़ने में विश्वास रखती है। एक ही शो में इतने अलग-अलग तरह की भूमिका निभाने का मौका पाकर मैं बहुत रोमांचित महसूस कर रही हूँ और मुझे यकीन है कि दर्शकों को यह नया सफर ज़रूर पसंद आएगा।” ‘अलादीन: नाम तो सुना होगा’ का नया अध्याय देखिए, 31 अगस्त से, हर सोमवार से शुक्रवार, रात 9.30 बजे, केवल सोनी सब पर

Related Posts you may like

प्रमुख खबरें